Hindi Status For WhatsApp

Hindi Status For WhatsApp

 

Best Collections of Hindi Status For WhatsApp and you can express your feelings and situation on WhatsApp.

 

1.

किसी ने कहा दुनिया प्यार से चलती है, किसी ने कहा दुनिया दोस्ती से चलती है, लेकिन हमने जब आजमाया तो ये दुनिया मतलब से चलती है।

2.

जितना बदल सकते थे बदल लिया खुद को ,
अब जिसको तकलीफ है वो अपना रास्ता बदले !

3.

लोग कहते है की मेरे दोस्त कम है,
लेकिन
वो नहीं जानते की मेरे दोस्तों में कितना दम है !

4.

मेरा सलाम उनको जिन्होंने याद रखा मुझे …
उनका भी बहुत शुक्रिया जो भूल गए मुझे

5.

सुलझा हुआ सा समझते है मुझको लोग,
उलझा हुआ सा मुझमे, कोई दूसरा भी है।

6.

जो मैं रूठ जाऊँ तो तुम मना लेना, कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना।

7.

जब इंसान सफल होने लगता है, तब इंसान खुश नही होते हैं, बल्कि जलने लगते हैं..!!

8.

हमारी शराफत का फायदा
उठाना बंद कर दो,
जिस दिन हम बदमाश हो गए,
कयामत आ जाएगी।

9.

उम्र शर्मिंदा हो जाए , इतने तजुर्बे दे दिए ज़िन्दगी ने

10.

समय दिखाई नहीं देता साहब, लेकिन बहुत कुछ दिखा जाता है ।

11.

कत्ल करती हैं तुम्हारी नज़र हजराे का… ऐसे ना देखा करो हमें… तुम्हारा एक दीवाना और ख़त्म हो जायेगा

12.

मैंने जब भी रब से गुजारिश की है, तेरे चहेरे पे हँसी की सिफारिश की है…

13.

जो भी दिल में हो साफ-साफ कह देना चाहिए,
क्योंकि कहने से फैसले होते हैं,
और चुप रहने से फासले होते हैं

14.

तेरी ख़ामोशी पर फ़िदा तो हम है ही
कुछ कह दो तो शायद फ़ना हो जाएँ.

15.

इस दुनिया में‌ अपना एक अलग ही रुतबा है …दुश्मन हो या दुनिया हर एक के दिल पर अपना ही कब्जा है

16.

बोलना तो सब जानते हैं मगर कब और
क्या बोलना है,यह बहुत कम लोग जानते हैं।

17.

हमारे दिल की बस इतनी ही दास्ताँ होती है,
तुम्हारे ख्याल में हर रात आखरी होती है,
हर सुबह तुम्हारे ख्याल की पहली सोच होती है।

18.

सोने के जेवर ओर हमारे तेवर लोगो को अक्सर बहोत मेंहगे पडते हे.

19.

जो भी दिल में हो साफ-साफ कह देना चाहिए, क्योंकि कहने से फैसले होते हैं, और चुप रहने से फासले होते हैं…!!

20.

वो_पागल मुझे कहती है तू ‘आवारा’ है इस लिए  कुवारा है,  मैंने कहा.. अगर में  कुवारा_न_होता तो  तुम्हारी_सहेलियों का “गुजारा” ना होता..!

21.

आज कल जिनसे वफ़ा करते हैं,
वही हमे मतलबी समझने लगे हैं।

22.

नया नया है ‪तू बेटे मैंने ‪खेल पुराने ‪खेले है, जिन लोगों के दम पर ‪‎उछलता है तू वो मेरे पुराने चेले है..!!

23.

अगर तुम्हारी गिनती बदमाशों में होती है तो हमारा नाम भी कभी शरीफों की गिनती में नहीं आया !

24.

जो मैं रूठ जाऊँ तो तुम मना लेना,
कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना।

25.

मौत हर किसी को आती है यारो पर जीना हर किसी को नहीं आता

26.

हमें मत ढूंढो हजारों में, क्योंकि हम बिकते नहीं बाजारों में।

27.

जिंदगी मेरे कानो मे अभी होले से कुछ कह गई, उन रिश्तो को संभाले रखना जिनके बिन गुज़ारा नहीं होता

28.

हर किसी को हमेशा ये सोचना चाहिए , गलती चाहे किसी की भी हो पर रिश्ता तो अपना होता है

29.

फर्क नहीं पड़ता दुनिया क्या कहती है , मैं नालायक हूँ ऐसा मेरी माँ कहती है

30.

रिश्ते मोती की तरह होते हैं, अगर कोई मोती टूट कर गिर भी जाएं तो उसे झुककर उठा लेना चाहिए।

31.

मिट्टी की बनी हूँ महक उठूंगी
बस तू इक बार बेइन्तहा बरस के तो देख

32.

एक वक़्त ऐसा भी आता है जब सब ठीक हो जाने के बाद भी मुस्कुराने का दिल नहीं करता

33.

सही को सही और गलत को गलत कहने की हिम्मत रखता हूँ…
इसीलिए आजकल रिश्ते कम रखता हूँ

34.

जो कहते थे रंगों से डर लगता है मुझे , मैंने उन्हें पल पल रंग बदलते देखा है

35.

हमेशा आगे बढ़ने कि सोचो, किसी के प्यार मे पड़कर मरने कि नहीं।

36.

रिश्ते भले ही कम ही बनाओ लेकिन दिल से निभाओ, क्योंकि आज कल इंसान अच्छाई के चक्कर में अच्छे खो देते है।

37.

बादशाह बनो शेर जैसे वरना डराना तो कुत्ते भी जानते हैं

38.

जो रिश्ते बहुत खास होते हैं,
वो कभी किसी को जताना नही पड़ते है।

39.

हमेशा पैसे वाला वो व्यक्ति होता है,
जिसके पास ऐसी चीज़े हो जो पैसे से न खरीदी जाये।

40.

मशहूर होने का शोक नहीं है लेकिन क्या करे लोग नाम से ही पहचान लेते है।

41.

हारना तब जरूरी हो जाता है, जब लड़ाई अपनों से हो, और जितना तब जरूरी हो जाता है, जब लड़ाई अपने आप से हो

42.

जिम्मेदारियों की एक खूबी होती है
ये आपको कभी बिगड़ने नही देती||

43.

कुछ कहने से पहले जरूर सोचिए, आपके शब्द किसी की खुशियों को खत्म कर सकते हैं।

44.

उसने कहा स्टेटस ख़त्म हो जायेंगे फिर कया करोगे,
मैंने भी कह दिया की पगली तब तक तू पट जायेगी !!

45.

बहुत दर्द देती है वो सजा,
जो बिना खता के मिली हो।

46.

कुछ तारीखें बीतती नहीं, तमाम साल गुज़रने के बाद भी..!!

47.

प्यार करने का हुनर हमें आता नहीं, इसीलिये हम प्यार की बाज़ी हार गये; हमारी जिंदगी से उन्हें बहुत प्यार था; शायद इसीलिये वो हमें जिंदा ही मार गये

48.

यू हर  किसी के ‘हाथों’ बिकने को  तैयार_नहीं, ये _शेर_ का  जिगर है, तेरे  शहर का अखबार नहीं..!

49.

मोबाइल में घण्टे घण्टे भर म्यूजिक सुनने में भी
वो मज़ा नही आता…
जो क्लास के बेंच पर खुद तबला बजाते हुए गाना गाने में आता था

50.

रूठा हुआ है मुझसे इस बात पर ज़माना कि शामिल नहीं है फितरत में मेरी सर झुकाना

51.

इतना भी नजर से ना गिरो, के
तुम सामने खड़े हो फिर भी उसे दिखाई ना दो।

52.

सबर रख ऐ दोस्त हर रात की सुबह होती है ।

53.

सिर्फ हम ही है तेरे दिल में, बस यही गलतफहमी हमे बर्बाद कर गयी।

54.

आसमान में उड़ने वाले जरा ये खबर भी रख,
जन्नत पहुँचने का रास्ता मिट्टी से ही गुजरता है…!

55.

रिश्ते आजकल झूठ बोलने से नहीं,
बल्कि सच बोलने से टूटते हैं…!!

56.

जुबान कड़वी ही सही पर साफ़ रखता हूँ,
कौन, कहाँ, कब बदल गया सबका हिसाब रखता हूँ !

57.

नजर बाग़ में नजर को हमने नजर मिलते नजर से देखा |
नजर पड़ी तो नजर को हमने नजर चुराते नजर से देखा |
नजर तुम्हारी नजर हमारी नजर ने दिल की नजर उतारी ||

58.

डर हमेशा आपको एक कैदी बना कर रखेगा,
जबकि खुले विचार आपको एक बादशाह बना कर रखेंगे!

59.

नफरत करके क्यों किसी की एहमियत बढ़ानी , माफ़ करके उसको शर्मिंदा कर देना भी बुरा नहीं

60.

बेक़सूर कौन होता हैं इस ज़माने में.. बस सबके गुनाह पता नहीं चलते..

61.

एक आदमी, एक औरत के पीछे हाथ धोकर पड़ा था ..
जब औरत ने मुँह धोकर दिखाया तब जाकर मामला शांत हुआ

62.

जो नहीं है हमारे पास वो ख्वाब हैं, पर जो है हमारे पास वो लाजवाब हैं..!!

63.

क्यों फिक्र करता है ऐ दोस्त अंधेरा है तो ऊजाला भी होगा एक दिन साथ तेरे यह जमाना भी होगा।

64.

ये जिंदगी मेरी है तो जीने का अंदाज भी मेरा होगा,
देख भाई मौत पसंद है लेकिन बेज्जती नहीं,
दुश्मन चलेगा लेकिन गद्दार नहीं।

65.

उनके हाथो से फिसल जीती है चीजें अक्सर,
हमारा दिल भी उन्ही के पास हैं खुदा खैर करे।

66.

राज तो हमारा हर जगह पे है। पसंद करने वालों के
“दिल” में और नापसंद करने वालों के “दिमाग” में।

67.

बहुत ज़ालिम निगाहें हैं इन्हें मासूम मत समझो.
अगर तफ़्तीश हो जाये हज़ारों क़त्ल निकलेंगे.

68.

तेरे ‪ पप्पा से केह दे कभी हमारा
‎इलाक़ा घुमकर देखे, सिर्फ ‪ नाम ही काफ़ी है उनके ‪ जमाई का…

69.

जब जरुरत के समय काम आने वाला अपना ही पैसा बदल जाता है… तो अपनों की बात करें ।

70.

इंसान को कभी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए, क्योंकि पहाड़ से निकली नदी किसी से रास्ता नहीं पूछती की समन्दर कहाँ है?

71.

अरे यार !! यूँ ही हम “दिल” साफ रखा करते थे, पता नहीं था किमत “चहेरे की होती है

72.

वक्त से हारा या जीता नही जाता
केवल सीखा जाता हैं।

73.

चल दिए वो हमको भुलाकर, भारी
महफ़िल में हमको रुलाकर।

74.

का वो नशा चढ़ा है मुझपर जो ना उतरेगा, शख़्सियत भले ही मिट जाए पर ये बन्दा किसी के आगे नहीं झुकेगा।

75.

हो सकता है जो मुझे दर्द मिला हो वो किसी के हसने की वजह से मिला हो। लेकिन मेरी हँसी किसी की दर्द की वजह नही बन सकती।

76.

जिसने हमको चाहा उसे हम चाह न सके और जिसको हमने चाहा उसको हम पा न सके।

77.

शायरों से नज़दीकी रखोगे तो तबियत ठीक रहेगी, ये वो हकीम है, जो हर दर्द का इलाज़ लफ़्ज़ों से करते हैं

78.

इजाजत हो तो मैं भी तुम्हारे पास आ जाऊँ, देखों ना चाँद के पास भी तो एक सितारा है

79.

दिल में चाहत का होना जरूरी है…वरना…याद तो रोज दुश्मन भी करते हैं…!!…

80.

वो पास आते तो हम बात कर लेते,
वो साथ रहते तो प्यार कर लेते,
क्या मजबूरी रही जो वो चले गये,
वजह तो बताते हम इंतज़ार कर लेते

81.

बहुत खास थे कभी
नजरों में किसी के हम भी,
मगर नजरों के तकाज़े
बदलने में देर कहाँ लगती है।

82.

ब्लॉक कर दे मुझको वरना प्यार हो जायेगा तुझको

83.

हम जिंदगी की भागदौड़ मे इतने लीन हो गए, पता ही नहीं चला गोलगप्पे कब 10 के तीन हो गए…

84.

लक्ष्य सही होना चाहिए वरना काम तो दीमक भी करती है पर होता विनाश ही है उससे

85.

एक तो सुकुन और एक तुम,
कहाँ रहते हो आजकल मिलते ही नही।

86.

हम सच बोले तो दुनिया बाले ठुकरा देते है,
और झूठ बोले तो गले लगा लेते हैं।

87.

ये कश्मकश है कि ज़िंदगी कैसे बसर करें,
पैरों को मोड़ कर सोयें या चादर बड़ी करें..

88.

हाथ की लकीरों  पर_नहीं,
बल्कि हाथ की  लकीरें बनाने वाले पर  भरोसा_करो ।।

89.

रिश्ता भले ही कोई भी हो, मजबूर नहीं मजबूत होना चाहिए

90.

सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है,
आँख खुलते ही दिल में आपकी याद होती है,
खुशियों के फूल हों आपके आँचल में,
ये मेरे होंठों पे पहली फ़रियाद होती है।

91.

नया साल आए बनकर उजाला
खुल जाए आपकी किस्मत का ताला,
आप पर मेहरबान रहे ऊपरवाला
यही दुआ करता है हर चाहनेवाला
नया साल मुबारक

92.

हम आज भी शतरंज का खेल अकेले ही खेलते है,
क्योकि दोस्त के खिलाफ चाल चलना हमे आता ही नहीं है !

93.

मुझे आदत नहीं यूँ हर किसी पे मर मिटने की,
पर तुझे देख कर दिल ने सोचने तक की मोहलत ना दी.

94.

सिर्फ नाम की दोस्ती और काम की यारी,
दूसरों की तरह ये आदत नही हमारी।

95.

जिंदगी मेरे कानो मे अभी होले से कुछ कह गई,
उन रिश्तो को संभाले रखना जिनके बिन गुज़ारा नहीं होता ||

96.

गलतियां भूलना सीखिए जनाब, लोग आपको याद रखने लगेंगे।

97.

फ़िज़ूल बातें को भुला कर रिश्ता निभाना चाहिए

98.

यकीन करना सीखिए जनाब शक तो सारी दुनिया करती है।

99.

किताबों की अहमियत अपनी जगह है, मगर सबको वही याद रहता है जो वक्त और लोग सिखाते है।

100.

ख़ौफ़ अपनी आँखों में रखो, हथियारों से दुश्मन की हड्डियाँ तोड़ी जा सकती है हौंसला नहीं।

Leave a Reply